Rainrays Profiles
 
English
   Login | Registration | What you Want | Free Ads | Tours & Travel India

Home rainrays profile world Aadhaar Card Online Free Marketing Contact Us Online Free Marketing URL Submission Online Free Marketing Tour n Travel Free Ads with rainrays Products Web Directory Pincode India Web Directory Search India Jobs Herbalife Club Online Fm radio Recipes

 
 
Custom Search
Plan Your Tour
Best Tours India
 Week End Tours  Week End Tours
 Wildlife tours Wildlife tours
 Honeymoon  Honeymoon Tours
 Religious Tours Religious Tours
 Religious Tours International Tours
 Religious Tours Indian Tours for Overseas

More Topics...
  Hospitals & clinics in India Hospitals & clinics in India
  Hospitals & clinics in India World Travel Tips
 Kitchen Dictionary Kitchen Dictionary
 Recipes Recipes
 Personality Personality
 Institute/Colleges Institute/Colleges
 Indian Festivals Indian Festivals
 University University
 Restaurant Restaurant
 Districts List in India Districts List in India
 Districts Profile of India Districts Profile of India
 Hotels Hotels
 BSNL STD Codes (INDIA) BSNL STD Codes (INDIA)
 Love dating and Romance Love dating and Romance
 Baby name list Baby name list
 Jobs by location Jobs by location
 Jobs by Keyword Jobs by Keyword
 Jobs by Function Jobs by Function
 Jobs Part Time Jobs Part Time
 Shayari Shayari
 Place Profile Place Profile
 Business Profiles Business Profiles
 Professional Profiles Professional Profiles
 Rainrays Member Rainrays Member
 

क्या प्रेगनेंसी में पुदीने की चाय पीनी चाहिए

  Topic » Pregnancy and Care » Food in Pregnancy
Post By : Rainrays At 0000-00-00 00:00:00
  More... Related Article

नमस्कार दोस्तों, क्या आपको कॉफी और चाय पीए बग़ैर चैन नहीं आता? लेकिन के आपको पता है की ये दोनों कैफीन से भरपूर ड्रिंक आपकी कोक में पलने वाले बच्चे के लिए कितनी हानिकारक हैं? क्या आपने प्रेगनेंसी में कभी पुदीने की चाय पीने की सोची आज के इस वीडियो के माध्यम से हम चर्चा करने वाले हैं कि प्रेगनेंसी में पुदीने की चाय पीनी चाहिए कि नहीं पीनी चाहिए इसके लिए हम आपको पुदीने की चाय से प्रेगनेंसी के समय होने वाले फायदे पर चर्चा करेंगे और साथ ही साथ प्रेग्नेंसी के समय पुदीने की चाय पीने से होने वाले नुकसान पर भी चर्चा करेंगे जिससे आप यह बड़ी आसानी से पता लगा पाओगे की प्रेगनेंसी में पुदीने की चाय पीने चाहिए कि नहीं पीनी चाहिए

हम आपको यह भी बताएंगे कि पुदीने की चाय कैसे बनानी चाहिए तथा कितनी मात्रा में 1 दिन के अंदर पुदीने की चाय पीनी चाहिए

[नई माता के लिए हेल्थ ड्रिंक्स ]
[तुरंत जन्मे बच्चे के हिसाब का बिस्तर ऐसा होता है ]

पुदीने की चाय एक ऐसी ड्रिंक है जो प्रेगनेंसी के समय आपके स्वास्थ को अच्छा रखने में मदद करती है| मेथानॉल के हाई लेवल के कारण, पुदीना आपकी पाचन शक्ति को सुधारता है और पेट की जलन को दूर रखता है| पुदीने की खुशबू आपके शरीर और दिमाग को सुकून देती है और तनाव से दूर रखती है|
चर्चा कर लेते हैं कि प्रेग्नेंसी के समय पुदीने की चाय पीने से कौन-कौन से फायदे आपको हो सकते हैं

पाचन शक्ति हो सुधारता है
पुदीने की चाय आपके पेट में होने वाली एसिडिटी का इलाज करता है और प्रेग्नेंट होने के नाते आपको बदहज़मी और पेट भारी होने का आसार होता है| पुदीने की चाय एक बूटी की तरह काम करती है जो की आपके पेट की मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है और पेट दर्द होने से बचाता है| आपके पेट में अधिक गैस होने के कारण आपके शरीर में दर्द हो सकता है और पुदीने की चाय आपकी पाचन शक्ति को बढ़ावा देती है और पेट में होने वाली हलचल को क़ायम रखती है|

स्ट्रांग इम्यून सिस्टम
पुदीने की चाय में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, यह प्रेग्नेंट महिलाओं को कई तरह की परेशानियां जैसे कि वायरल इंफेक्शन, सर्दी, खांसी, जुखाम इत्यादि से बचाने में सहायता करती है यह प्रेग्नेंट महिलाओं को कई तरह की परेशानियां जैसे कि वायरल इंफेक्शन सर्दी खांसी जुखाम इत्यादि से बचाने में सहायता करती है

जी मचलना और उलटी होने से बचाता है
प्रेग्नेंसी के समय सबसे कॉमन समस्या यही होती है लगभग लगभग हर महिला उल्टी और जी मिचलाने की समस्या से ग्रसित होती है, जी मिचलाने समस्या से बचने के कई सारे ऑप्शन अवेलेबल है लेकिन साथ ही साथ पुदीने की चाय इस समस्या को दूर करने में सक्षम होती है पुदीने की चाय एक एन्टीस्पैस्मोडिक की तरह काम करती है और आपके उलटी होने और जी मचलने की क्षमता को कम करता है| तो अगली बार अगर आपको गर्भावस्था के समय उलटी आये तो पुदीने की चाय पीएं|

सांस लेने की क्षमता में सुधार
क्योंकि पुदीने की चाय एक एन्टीस्पैस्मोडिक की तरह काम करती है, ये आपके रेस्पीरेट्री सिस्टम को स्ट्रांग बनाती है रेस्पीरेट्री सिस्टम से संबंधित परेशानियों और बीमारियों को ठीक करने में मदद करती है | पुदीने की ठंडी प्रकृति आपके छाती और गले की मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है| पुदीने की चाय आपकी छाती में दर्द होने से और ठंडा या फ़्लू होने से बचाता है|

तनाव छूमंतर
प्रेग्नेंसी के समय महिलाओं की जिंदगी एक दम से ठहर सी जाती है ऐसे में महिलाओं को बहुत सारे कामों के लिए दूसरों की ओर देखना पड़ता है कई बार महिलाएं इस ठहराव के कारण टेंशन में आ जाती हैं और आने वाली जिम्मेदारियों की वजह से भी कभी-कभी टेंशन हो जाती है तनाव हो जाता है ऐसी स्थिति में तनाव को दूर रखने के लिए पुदीने की चाय काफी महत्वपूर्ण हो जाती है पुदीने की चाय एक प्राकृतिक सेडेटिव है जो आपको मानसिक तनाव से दूर रखता है| पुदीने की एंटी-इन्फ्लमेट्री और सूथिंग तासीर आपके शरीर के टेम्परेचर और ब्लड प्रेशर को घटाने में मदद करता है| इसका असर आपकी मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है और साथ ही आपको शांति प्रदान करता है|

पुदीने की चाय जहां इतने सारे फायदे प्रेग्नेंसी के समय आपको देती है वहां कभी कभी वह नुकसान भी दे देती है आइए प्रेग्नेंसी के समय पुदीने की चाय से होने वाले नुकसान ऊपर एक बार चर्चा कर लेते हैं

क्या पुदीने की चाय मिसकैरेज का कारण बनती है
गर्भवस्था के समय पुदीने की चाय आपके यूटेरस को आराम पहुंचाती है और इसके कारण आपके मिसकैरेज होने की संभावना और बढ़ जाती है| हालांकि गर्भावस्था में पुदीने की चाय पीने से मिसकैरेज होता है इस बात का कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं है लेकिन जिन महिलाओं को पहले मिसकैरेज हो चूका है उन्हें पुदीने की चाय पीने से रुकना चाहिए|

[प्रेग्नेंट को किस धातु के बर्तन का पानी पीना चाहिए ]
[गर्भवती के लिए ओरिजिनल केसर का भण्डार ]

एलर्जी
अगर आप गर्भवती हैं और आपको मेथनॉल से एलर्जी है तो इस हालत में आपको पुदीने की चाय से बचना चाहिए| पुदीने की चाय आपमें एलर्जिक रिएक्शन ला सकती है

दवाइयों पर नेगेटिव असर
प्रेगनेंसी में बहुत सारी दवाइयां लेनी पड़ती है, जिन्हें डॉक्टर प्रिसक्राइब करते हैं कभी कभी पुदीने की चाय दवाइयों के साथ मिलकर शरीर पर नेगेटिव प्रभाव डाल देती है इसलिए अगर आप पुदीने की चाय प्रग्नैंसी में पीने की इच्छा रखती हैं तो आपको अपने डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए

किसी भी चीज़ की अधिक मात्रा हानिकारक होती है फिर चाहे वो खाना या पीना ही क्यों ना हो| पुदीने की चाय को अधिक मात्रा में पीने से आपके शरीर पर उसका ग़लत प्रभाव पड़ सकता है जैसे मांसपेशियों में दर्द, चक्कर आना,दिल की धड़कन कम हो जाना और अचानक से काँप उठना|

आम तौर पर एक कप पुदीने की चाय में 1 ग्राम या 1 चम्मच से अधिक पुदीने की पत्तियां ना डालें| चाय बनाने के लिए 150-160 ml से अधिक पानी का इस्तेमाल ना करें| एक दिन में 2-3 बार हर्बल चाय ना पीएं |





Refer to Friend

  Rainryas information World
 

Share Info/View About Profile Or Any Comment

 
Your Name:* 
 
Comment:*  
 
 
 
Other Topic
Basoa or Bishu Festival of Himachal Pradesh
Balrampur House , Nainital
School in Patna List 1
Schools / Colleges in Udham Singh Nagar
Pincode South Garo Hills District Meghalaya
 
Create Your Profile in Category » Food in Pregnancy
 
More on rainrays.com
Top Links : FM Radio | Contact us | About us | Privacy & Policy | Terms & Condition | Extract Email | Submit URL to Search Engine
Net Search : For Cooking | Word Dictionary | Encyclopedia Search | Find Location by MAP | Find a Person | Find Your Shipping | Stock Market | Language Converter
Jobs : Jobs by Location | Part Time Jobs | Jobs by Function | Jobs by Keyword | Jobs Out of india | Jobs Search Engine
Other Links
    Girl baby Names | Boy baby Names | Love dating and Romance | University | Restaurants in India | Hotels in India | Hospitals & clinic
    Coaching Institute | Educational Institution | School/Colleges by Loaction | Recipes | Std Code | PHP | Products | Links
PHP Interview Question

Copyright © 2010 --- All Rights Reserved